शपथ ग्रहण समारोह से राजद का बहिष्कार

Monday 16 Nov 2020 राष्ट्रीय

नीतीश कुमार सोमवार को पटना में एक समारोह में चौथे सीधे कार्यकाल के लिए बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा समारोह में मौजूद रहेंगे। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने इस कार्यक्रम का बहिष्कार करने का फैसला किया है। पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर दिये  एक बयान मैं कहा  है कि वे समारोह का बहिष्कार करेंगे क्योंकि जनता ने  जनादेश एनडीए के खिलाफ दिया है। राजग विधायक दल के सर्वसम्मति से नेता चुने जाने के बाद सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार को शपथ लेनी है, लेकिन भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी उपमुख्यमंत्री के रूप में अपना पद खो चुके हैं। रविवार को एनडीए द्वारा उन पर विश्वास जताने के तुरंत बाद, नीतीश ने राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात की और नई सरकार बनाने का दावा किया। वह 2000 के बाद से सातवीं बार मुख्यमंत्री बनेंगे। नीतीश ने कहा कि सोमवार को राजभवन को मंत्रिमंडल के सदस्यों के नाम भेजे जाएंगे। उन्होंने कहा कि रविवार की एनडीए की बैठक में विधानसभा के नए अध्यक्ष पर चर्चा नहीं हुई। जनता दल यूनाइटेड के सूत्रों ने कहा कि नीतीश भाजपा के साथ कैबिनेट बर्थ की संख्या में समानता चाहते हैं, जो आनुपातिक प्रतिनिधित्व की मांग कर रहा था। भाजपा ने जेडीयू की 43 सीटोंमुक़ाबले 74 सीटें  नीतीश अध्यक्ष के रूप में पार्टी के सहयोगी विजय कुमार चौधरी को भी बरकरार रखना चाहते हैं। नीतीश और राजनाथ ने अगले उपमुख्यमंत्री के बारे में कुछ नहीं कहा हालांकि, बीजेपी के सूत्रों ने सुझाव दिया कि यह पद भाजपा विधायक दल के नेता के रूप में चुने गए तारकिशोर प्रसाद के पास जा सकता है। कुछ ने सुझाव दिया कि भाजपा विधायक दल की उपनेता रेणु देवी, तारकिशोर के साथ पोस्ट साझा कर सकती हैं।

Related Post